राघोजी भांगरे (8 नवंबर 1805 – 2 मई 1848)

 नाईक राघोजी राव भांगरे की प्रतिमा, अहमदनगर,

महाराष्ट्रविकल्पीय नाम  :वंडकरी
जन्म – तिथि                  :8 नवंबर 1805
जन्म – स्थान                 :देवगांव, अकोले, मराठा साम्राज्य
मृत्यु – तिथि                  :2 मई 1848
मृत्यु – स्थान                 :अहमदनगर, ब्रिटिश भारत
आंदोलन                     : भारतीय स्वतन्त्रता आन्दोलन

धर्म                             :हिन्दू कोली

राघोजी भांगरे (8 नवंबर 1805 – 2 मई 1848) भारत के एक महान स्वतंत्रता सेनानी क्रांतिकारी थे। इनका जन्म ही एक क्रांतिकारी कोली परिवार मे हुआ था। राघोजी भांगरे के पिताजी रामजी भांगरे जो मराठा साम्राज्य मे सुबेदार थे ने अंग्रेजों के छक्के छुड़ा दिए थे और उनको अण्डमान और निकोबार द्वीपसमूह पर सेल्यूलर जेल मे काले पानी की सजा सुनाई गई थी साथ ही राघोजी भांगरे के दादाजी के सगे भाई वालोजी भांगरे भी क्रांतिकारी थे जिन्होने पेशवा के खिलाफ विद्रोह किया था और तोप से उड़ा दिया गया इतना ही नही राघोजी भांगरे के भाई वापूजी भांगरे ने भी अंग्रेजों के खिलाफ हथियार उठाए थे और शहिदी प्रात की।
 
1818 मे जब मराठा साम्राज्य ब्रिटिश सरकार द्वारा हराया जा चुका था और ब्रिटिश राज स्थापित किया जा रहा था तो ब्रिटिश सरकार को महाराष्ट्र मे जगह जगह विद्रोहों का सामना करना पड़ा जिनमे से एक तरफ विद्रोह राघोजी भांगरे के पिताजी रामजी भांगरे के ने दहकाया हुआ था। रामजी भांगरे की मृत्यु के पश्चात स्वतंत्रता की चिनगारी को राघोजी भांगरे ने व्यापक रुप दे दिया।

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Post comment